वायु ,बाय आदि के कारण घुटने ,कंधे ,गर्दन ,कमर आदि के दर्द का योग द्वारा उपचार

वायु ,बाय आदि के कारण घुटने ,कंधे ,गर्दन ,कमर आदि के दर्द का योग द्वारा उपचार

  1. प्राय यह देखा जाता है कि हमारे शरीर के विभिन्न भागों में जैसे कंधे गर्दन, कमर में दर्द रहता है तथा दर्द शरीर के अलग अलग भागों में घूमता रहता है और डॉक्टर विभिन्न प्रकार की पेन किलर ही दे सकते है जिससे दर्द दूर नहीं होता है और इनके साइड इफेक्ट्स भी बहुत होते हैं । यदि आपके साथ भी इस प्रकार की कोई समस्या हो तो फिर आप आज का आलेख वायु बाय आदि के द्वारा घुटने कंधे गर्दन कमर आदि के दर्द का योग द्वारा उपचार अवश्य पढ़ें |

प्रथम स्थिति

1 ~सबसे पहले योग की साधारण सावधानियों का ध्यान अवश्य रखें |

2~ प्रारंभ में अपने पैरों को अधिकतम फैला लेते हैं |

3~कमर और गर्दन को सीधा रखने का प्रयास करते हुए हाथों की उंगलियों से प्रत्येक पैर का अंगूठा पकड़ने का प्रयास करते हैं |

4~5 मिनट तक कम से कम इस अवस्था में ही बैठने का प्रयास करते हैं ।

5; उसके बाद धीरे धीरे पैरों को वापस प्रारंभिक अवस्था में ले आते हैं ।।


दूसरी स्थिति

विडियो के द्वारा भी इस में आप को मदद मिल सकती है.
1-अब क़मर के बल लेट जाते हैं।

२-दोनों पैर घुटने से मोड़ कर रखते हैं ।

3-दायां पैर जमीन से 90 अंश के कोण पर उठा देते हैं ।बाएं पैर को जमीन से बिल्कुल नहीं उठाते हैं

4-पंजा तना हुवा आसमान की तरफ खींचने का प्रयास करते हैं ।

5-जब कंपन होने लगे तो पैरको धीरे-धीरे नीचे ले आते हैं ।

6- अब यही क्रिया बाएं पैर से करते हैं।

7 -दो तीन बार दोनों पैरों से करते हैं ।

८-15 दिन तक अभ्यास अवश्य करें ।।

इस प्रकार दोस्तों आपके शरीर के सभी प्रकार की दर्द की समस्या दूर हो सकती है । इसके साथ-साथ आप सर्वांगासन ,हलासन ,उष्ट्रासन अर्धचंद्रासन , तितलिआसन ,मंडूकआसन आदि काअभ्यास भी कर सकते हैं // ।इसके अलावा आपको प्रतिदिन  प्राणायाम जैसे कपालभांति ,अनुलोम विलोम ,आदि का भी अभ्यास प्रतिदिन करना चाहिए //

ये भी जाने    ⇒  गैस-भगाए-आराम-दिलाए-तुरंत/

                      ⇒गर्दन के दर्द को कैसे दूर करे /

                                                                   ⇒नाक की बढ़ी हुई हड्डी से छुटकारा पाए बिना ऑपरेशन के /

 

आप से अनुरोध है कि यदि आप इस से होने वाले लाभ के प्रति अपने सुझाव प्रतिक्रिया या और कोई प्रश्न हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखें और इस लेख को शेयर भी करें Google प्लस ,Facebook ,Twitter या WhatsApp पर। धन्यवाद्
मनोज मेहरा

(योग ओर निरोग)

Leave a Reply